पारसी नव वर्ष नवरोज क्यों मनाया जाता है?

Parsi New Year – पारसी नव वर्ष, पारसी नव वर्ष 2022 में कब है? , कौन मनाते हैं? , क्यों मनाते हैं? , कैसे मनाते हैं? , Parsi New Year wishes in hindi

पारसी नव वर्ष

पारसी नव वर्ष 2022 में कब है?

पारसी नव वर्ष साल 2022 में अगस्त महीने की 16 तारीख दिन मंगलवार को मनाया जाएगा। पारसी नव वर्ष को नवरोज नाम से भी जाना जाता है।

भारत में पारसी नव वर्ष कौन मनाते हैं?

पारसी नव वर्ष या नवरोज पारसी लोगों द्वारा मनाया जाता है, भारत में महाराष्ट्र और गुजरात में पारसी नव वर्ष को सबसे ज्यादा मनाया जाता है क्योंकि इन दोनों राज्यों में बड़ी संख्या में पारसी आबादी रहती है।

पारसी नव वर्ष क्यों मनाते हैं?

पारसी इस दिन को नए साल के पहले दिन की तरह मनाते हैं, बिल्कुल वैसे ही जैसे 1 जनवरी को ब्रिटिश का नया वर्ष और चैत्र शुक्ल को हिन्दू नव वर्ष मनाया जाता है।

पारसी नव वर्ष यानी नवरोज मानाने की परंपरा लगभग 3000 सालों से चली आ रही है। पारसी नव वर्ष पूरी दुनिया के अलग-अलग देशों में बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है। नवरोज को ईरान, पाकिस्तान, इराक, बहरीन, तजाकिस्तान, भारत, आदि देशों में मनाया जाता है। पारसी इस दिन को पाप के अंत का समय मानते हैं।

पारसी धर्म, दुनिया में सबसे पहले ज्ञात धर्मों में से एक है जिसे फारस (अब ईरान) में पैगंबर जरथुस्त्र द्वारा स्थापित किया गया था। सातवीं शताब्दी में इस्लाम धर्म के उदय से पहले यह प्राचीन दुनिया में सबसे महत्वपूर्ण धर्मों में से एक था। फारस में इस्लामी आक्रमण के दौरान, कई फारसी भारत और पाकिस्तान आ गए। तब से, उनके त्यौहार भारतीय संस्कृति का हिस्सा बन गए हैं और विभिन्न संस्कृतियों के लोगों द्वारा मनाए जाते हैं।

यह भी पढ़ें – खुल गया बरमूडा ट्रायंगल का रहस्य

पारसी नव वर्ष कैसे मनाते हैं?

इस दिन लोग अच्छे स्वास्थ्य और समृद्धि के लिए प्रार्थना करते हैं। इस दिन लोग अपने घरों और दिल से अनावश्यक वस्तुओं और विचारों को साफ करते हैं। पारसी लोग इस दिन अपने पारंपरिक वस्त्र पहनते हैं, अपने घरों को रोशनी और रंगोली से सजाते हैं और स्वादिष्ट व्यंजन भी तैयार करते हैं।

पारसी लोग इस दिन Fire Temple भी जाते हैं। प्रसाद के तौर पर दूध, जल, फल, फूल और चंदन को पवित्र अग्नि में चढ़ाया जाता है।

इस दिन पारसी लोग अपने घर में मूंग दाल, पुलाव, मछली, साली बोटी, और मीठे रावो जैसे स्वादिष्ट खाद्य व्यंजन बनाते हैं। मेहमानों के आने पर उनका स्वागत गुलाब जल के छिड़काव से किया जाता है और उन्हें पीने के लिए फालूदा को दिया जाता है।

यह भी पढ़ें – मेडिटेशन या ध्यान क्या है, कैसे करें?

Parsi New Year wishes in hindi

  • यह नया वर्ष आपके लिए खुशियों और अच्छे समय से भरा हो, आपको पारसी नव वर्ष की शुभकामनाएं!
  • आप हमेशा सकारात्मकता रहें और अपने प्रियजनों के बीच मुस्कान बिखेरें, नवरोज मुबारक!
  • मैं कामना करता हूं कि आपके जीवन का प्रत्येक दिन एक नया अवसर हो। आप जीवन में हमेशा खुश रहें। आपको पारसी नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं!
  • पारसी नव वर्ष के अवसर पर, आपके आने वाले वर्ष के शानदार, सुंदर और आनंदमयी होने की कामना करता हूँ। नवरोज मुबारक!
  • आपको नवरोज़ के अवसर पर ढेर सारा प्यार और हार्दिक शुभकामनाएँ। आपको जीवन में सुख-शांति, सफलता और समृद्धि मिले। आपको और आपके परिवार को नवरोज मुबारक।
  • प्यार, बहादुरी, ज्ञान, संतोष, स्वास्थ्य, धैर्य, स्वच्छता आपके साथ हो। नवरोज मुबारक!
  • मेरी ओर से आपको और आपके परिवार को पारसी नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ! इस नवरोज पर दोस्ती, नई शुरुआत और एकजुटता के साथ रहें। पारसी नया साल मुबारक!

यह भी पढ़ें – औरंगाबाद का नाम बदलने के पीछे की कहानी

मैं उत्तराखंड के किच्छा का रहने वाला हूँ। मुझे लिखना पसंद है और इसीलिए मैंने अपना ये ब्लॉग शुरू किया है जहाँ मैं हमेशा कुछ ऐसा शेयर करने की कोशिस करता हूँ जिससे आप कुछ नया सीख सकें।

Leave a Comment